हर दिन किसी न किसी वजह से लोग अलग-अलग तरह की यात्रा पर निकलते हैं. कई बार कुछ खास उद्देश्य से सामाजिक, धार्मिक, मांगलिक यात्रा भी होती है. कई बार जिस उद्देश्य से यात्रा की जा रही हो वह काम आसानी से पूरा हो जाता है और कई बार लाख कोशिशों के बाद भी काम पूरा नहीं होता या फिर यात्रा में बहतु ही ज्यादा कष्ट होता है. ऐसी परेशानियों से बचने के लिए ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है कि किस दिन कौन-सी दिशा में यात्रा करना शुभ होता है और कौन-सी दिशा में दिशाशूल लगता है यानी यात्रा कष्टकारी या बाधा उत्पन्न करने वाली होती है. जानने के लिए आगे पढ़ें.

ज्योतिष के अनुसार कौन से वार को किस दिशा में यात्रा करने से बचना चाहिए. यह बताया गया है. साथ ही यह भी बताया गया है किस दिन कौन-सी दिशा की यात्रा करना अच्छा होता है. कई बार न चाहते हुए भी निषेध दिशा में यात्रा करना पड़ सकती है ऐसी स्थिति में कुछ आसान उपाय करने से यात्रा दोष दूर होता है.

किस दिन कौन-सी दिशा में यात्रा नहीं करनी चाहिए

    .सोमवार एवं शनिवार को पूर्व दिशा में यात्रा नहीं करनी चाहिए. ऐसी मान्यता है कि इन दो दिनों में पूर्व की यात्रा करने से काम में बाधा उत्पन्न होती है या काम नहीं बनता.

    रविवार और शुक्रवार को पश्चिम दिशा की यात्रा को शुभ नहीं माना गया है.

    वहीं मंगलवार और बुधवार को उत्तर दिशा की यात्रा अनुकूल नहीं होती है.

    गुरूवार को दक्षिण दिशा की यात्रा करने पर दिशाशूल लगता है.

    दिशाशूल का अर्थ है यात्रा में बाधा उत्पन्न होना या यात्रा कष्टकारी होना.

ज्योतिष के अनुसार जानें किस दिन कौन-सी दिशा में यात्रा करना शुभ होता है

1 दक्षिण दिशा में यात्रा के लिए सोमवार के दिन को अच्छा माना गया है.

2 मंगलवार को पूर्व व दक्षिण दोनों ही दिशाओं में यात्रा करना शुभ होता है.

3 बुधवार के दिन पूर्व एवं पश्चिम दिशा की यात्रा करना उत्तम माना गया है.

4 गुरूवार को दक्षिण दिशा को छोड़कर अन्य सभी दिशाओं में यात्रा उत्तम होती है.

5 शुक्रवार के दिन शाम के समय शुरू की गयी यात्रा सुखद और शुभ फल देने वाली माना गया है.

6 शनिवार को अपने घर की यात्रा को छोड़कर अन्य किसी भी स्थान की यात्रा करना शुभ फल देने वाला नहीं होता है.

7 रविवार को पूर्व दिशा में की गयी यात्रा शुभ होती है.
यात्रा दोष दूर करने के आसान उपाय

कई बार बहुत जरूरी होने की वजह से उस दिशा में यात्रा करनी पड़ती है जिस दिशा में दिशाशूल होता है. इस दोष को दूर करने के लिए ज्योतिषशास्त्र में कुछ आसान उपाय बताये गए हैं जिन्हें करने से यात्रा दोष दूर होता है. जानें

    सोमवार को दर्पण देखकर और दूध पीकर यात्रा करना शुभ होता है.

    मंगलवार को गुड़ खाकर यात्रा करने से सफलता मिलती है.

    बुधवार को धनिया या तिल खाकर यात्रा करने से जिस काम के लिए यात्रा कर रहे हैं वह काम बना जाता है.

    गुरूवार को दही खाकर यात्रा करने से हर बाधा दूर होती है.

    शुक्रवार को जौ खाकर या दूध पीकर यात्रा करने से शुभ फल मिलता है.

    शनिवार को उड़द या अदरक खाकर यात्रा करने से काम बन जाते हैं.

    रविवार को घी अथवा दलिया खाकर यात्रा करने से काम पूरा होता है.